Karela ke Fayde and Upyog करेला के फायदे और उपयोग

Spread the love
करेला स्वास्थ्य के लिए  फायदेमंद होता है। करेले की सब्जी भले ही स्वाद में कड़वी होती है परन्तु Karela ke Fayde and Upyog के बारे में आप को जरूर पता होगा भले ही इसे आप नहीं खाते ।
आम तौर पर इसके बारे में एक चीज सबको पता होती है की ये डाइबिटीज या मधुमेह में बड़ा ही फायदेमंद होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं की इसका सेवन करके आप कई रोगों को ठीक कर सकते हैं।
यदि आप इसके कड़वेपन के कारण इसका सेवन नहीं करते हैं तो इस जानकरी को पढ़ने के बाद इसका सेवन करने लगेंगे।

करेला के इस्तेमाल से डैंड्रफ की परेशानी खत्म  (Bitter Gourd Benefits in Lice Treatment in Hindi)

  • रुसी के लिए करेला रामबाण औषधि है। आज कल रुसी की समस्या बड़ी ही आम हो गयी है। जिसे अपने बालों से हटाने के लिए लोग भरकस प्रयास करते हैं परन्तु किसी को इसका पक्का इलाज नहीं मिलता। ऐसे में आप करेला का इस्तेमाल करें। करेले के पत्ते के रस को निकल कर सर में लगाने से रुसी की समस्या खत्म होती है।
  • आप चाहें तो करेले के पत्तों का रास हल्दी में भी मिला कर लगा सकते हैं। इसका भी नियमित रूप से प्रयोग करने पर डैंड्रफ से निजात मिलेगी।

आवाज बैठने (गला बैठने) पर करेला का उपयोग (Throat Disorder me Karela ke Fayde and Upyog )

  •  ज्यादा जोर से चिल्लाने या बोलने पर कई बार गला बैठ जाता है। गले से आवाज़ निकालनी बंद हो जाती है।  इसे में 5 ग्राम करेला की जड़ का पेस्ट बनाकर शहद या तुलसी के रस के साथ मिलकर इसका सेवन करने से तुरंत लाभ मिलता है।

गले की सूजन में करेला का प्रयोग (Karela Health Benefits in Reducing Throat Inflammation in Hindi)

  •  यदि आपके गले में सूजन आ गयी है तो इसके लिए करेला बड़ा ही उपयोगी साबित हो सकता है।  सूखे करेले को पीस लें और इसमें सिरका मिलाएं। अब इसे गर्म करके इसका लेप अपने गले में लगाएं। एक दो बार प्रयोग करने से ही गले की सूजन में आराम मिलता है।

कान के दर्द में करेले से फायदा (Benefits of Karela in Ear Pain Treatment in Hindi)

  • कान के दर्द में भी करेले का इस्तेमाल बड़ा ही लाभदायक होता है। करेले के ताजे फूलों को या इसकी पत्तियों को कोटकर इसका रस निकाल लें। इसे गुनगुना करके 1 -2 बूँद कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है।

पेट में कीड़े होने पर करेले का सेवन (Karela Uses in Abdominal Worm Treatment in Hindi)

  • यदि आपके या आपके बच्चों के पेट में कीड़े हैं तो 10 -12 ml  करेले के पत्तों का रस पियें। इसके सेवन मात्रा से ही पेट के कीड़े मर जायेंगे।
  • आप चाहें तो करेले के बीज को पीसकर इसका भी सेवन कर सकते हैं।  पेट में कीड़े वाली समस्या से निजात मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें – कामलता के फूलों की ऐसी जानकारी जो और कही नहीं मिलेगी

 

हैजा में फायदेमंद करेला का प्रयोग (Benefits of Karela to Treat Cholera in Hindi)

  • हैजा में भी करेले से फायदा होता है। 20-30 मिली करेला के जड़ का काढ़ा बना लें। इसे तिल के तेल में मिलाकर पीने से हैजा में लाभ होता है।
  • 5 मिली करेला के पत्ते के रस में तेल मिलाकर सेवन करने से भी हैजा में लाभ होता है।

 

मासिक धर्म विकार में करेला का प्रयोग (Benefits of Karela in Menstrual Disorder Problem in Hindi)

 

मासिक धर्म के विकार में भी करेला का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। 10-15 मिली करेला के पत्ते के रस में 1 ग्राम सोंठ, 500 mg काली मिर्च, और 500 mg  पीपल का चूर्ण मिला लें। इसे दिन में तीन बार पिलाने से मासिक धर्म विकारों में लाभ होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *