आयुर्वेदिक मसाला चाय बनाने की आसान विधि | Ayurvedic organic masala chai recipe in Hindi

Spread the love

चाय हमारे दैनिक दिनचर्या का अभिन्न हिस्सा है। हम चाय से ही सुबह की शुरुआत करते हैं।  एक अच्छी आयुर्वेदिक मसाला चाय ayurvedic masala chai recipe  कैसे बनाई जाए। हम आज आपको इसकी रेसिपी बताने वाले है।

लेकिन उसके पहले आइये जानते है चाय का मसालेदार इतिहास

चाय का इतिहास History of Tea in India in Hindi

चाय का उद्गम 750 ईसा पूर्व से है। भारत में चाय उत्तर -पूर्वी भागो में नीलगिरी की पहाड़ियों में उगाई जाती है।  और पूरी दुनिया में सबते बड़ा चाय उत्पादक भारत ही है।
    आज से हजारों साल पहले बौद्ध भिक्षुओं ने चाय का इस्तेमाल औषद्यि के रूप में किया था बौद्ध भिक्षु जब चिंतन की मुद्रा में बैठते थे तो निद्रा से स्वयं को बचने की लिए कुछ पत्तियों को खाते थे। ये चाय की पत्तियां थी। इन पत्तियों ने उन्हें पुनर्जीवित रखा और उन्हें जागते रहने के लिए सक्षम बना दिया। अब जब भी उन्हें नींद आती तो ये चाय का सेवन कर लेते थे। 
 
    इस तरह वे 7 वर्ष की अपनी तपस्या पूरी करते थे। इस तरह चाय भारत में प्रचलित होने लगी और सामान्य लोगों ने भी इसका सेवन करना शुरू कर दिया। ईस्ट इंडिया कम्पनी ने बाद में भारत में इसका उत्पादन शुरू किया और  19 वी सदी में असम में पहला चाय का बागान भी ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी द्वारा लगाया गया।  
 
 
 

आयुर्वेदिक मसाला चाय बनाने की विधि  (Best Ayurvedic masala chai recipe in hindi ) 

इसे भी पढ़ें –हर्बल टी पीने के इतने सारे फायदे

चाय का मसाला बनाने का सही तरीका (Best Ayurvedic chai ka masala recipe in hindi)

आयुर्वेदिक मसाला चाय यानी मसाला टी की रेसिपी best ayurvedic chai recipe हम आपके साथ शेयर कर रहें है। ये रेसिपी बहुत ही आसान है और आपकी इम्यूनिटी के लिए बहुत अच्छी होने वाली हैं।
     तो इस आयुर्वेदिक चाय बनाने की विधि के लिए हमें चाहिए एक नट मेग, लौंग, इलायची, काली मिर्च और तेजपत्ता इन सारी चीजों को हमें कूट लेना है। अदरक को आप बड़े बड़े टुकड़ों को छोटा-छोटा काट लें, उसके बाद में इन्हें कूच लें या मिक्सर में डालकर आपको पीस लेना है। उसके बाद इसके अंदर आपको दालचीनी, कालीमिर्च और इलाइची लोंग इन सारी चीजों का डालकर कूट लेना है। यह मसाला आपका बन के तैयार है।

 कैसे बनायें मसाला चाय (Masala Tea recipe in hindi )

अब आपको एक पैन में पानी गर्म करना है। उस के अंदर आपको तुलसी की ढेर सारी पत्तियों को क्रश करके डाल देना है और इस मसाले को डालना है। जब यह अच्छी तरह से पक जाए तो इसमें थोड़ा अजवाइन और जीरा को पका लेना है।
 यहां हम शक्कर की जगह शहद का इस्तेमाल करेंगे। शहद हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। यह हमारी स्किन को बहुत ज्यादा स्निग्ध बना देता है। शहद हमारी इम्यूनिटी के लिए भी बहुत अच्छा होता है।
 तो इस मसाला चाय से आप अपने दिन की शुरुआत कर सकते हैं। और ये चाय आपके सेहत के लिए बिलकुल भी हानिकारक नहीं होगी। अगर आपको इसमें स्वाद बढ़ाना है तो थोड़े से नींबू की दो-चार बूँदें भी  मिला सकते हैं ।
     ये चाय आपको पीने में तो बहुत स्वादिष्ट लगेगी ही। साथ ही आपकी इम्यूनिटी को भी बूस्ट करेगी। आजकल के दौर की भागती दौड़ती दिनचर्या से आप को सुरक्षित रखने में मदद करेगी।
यह पूरी तरह से आयुर्वेदिक चाय है। इसका कोई साइड इफेक्ट या नुकसान नहीं है।
    अगर आप लोगों को दूसरी चाय की रेसिपी best ayurvedic chai recipe पता है जो कि आयुर्वेदिक हो और पूरी तरह से सुरक्षित हो। इम्यूनिटी को बूस्ट करती हो तो वह रेसिपी आप कमेंट में जाकर शेयर जरूर करें।

गुजरती मसाला चाय रेसिपी  gujarati chai masala recipe in hindi

बेस्ट गुजरती चाय मसाला बनाने के लिए हमें सूखा अदरक,दालचीनी,लौंग, काली मिर्च, हरी इलाइची ये सभी सामग्री मिक्सी में दाल कर पीस लें। लीजिये तैयार है आपका गुजरती चाय का मसाला अब जब भी चाय बनानी हो आप चाय बनाते वक़्त ये मसाला डालें। और लुत्फ़ उठायें एक बेहतरीन चाय का।

10 thoughts on “आयुर्वेदिक मसाला चाय बनाने की आसान विधि | Ayurvedic organic masala chai recipe in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *