Sea salt benefits in Hindi समुद्री नमक और सेंधा नमक क्यों है इतना मूल्यवान

Spread the love

what is sea salt called in hindi -समुद्री नमक जिसे हम sea salt in hindi कहते है। क्या आप जानते है ये कैसे बनता है। कहाँ मिलता है ? कितने का मिलता है ? समुद्री नमक के फायदे क्या हैं ? सेंधा नमक, समुद्री नमक और काला नमक में अंतर क्या-क्या है ?

समुद्री नमक किसे कहते है ? what is sea salt in hindi

sea salt meaning in hindi-समुद्र का पानी खारा होता है। क्योंकि इसमें सोडियम की मात्रा काफी अधिक होती है। इस खारे पानी से नमक बनाया जाता है। जिसे हम समुद्री नमक sea salt कहते हैं। इस तरह से बनने वाले नमक में काफी अशुद्धियाँ होती हैं। जिस कारण से इसे कई प्रकार से फ़िल्टर किया जाता है।

समुद्री जल से बने नमक का रंग केवल सफ़ेद ही नहीं होता है। यह नमक गुलाबी, हल्का काला या हरापन लिए हुए भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें – Amritdhara सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार /कपूरधारा/जीवन रसायन बनाने की विधि

समुद्री नमक कैसे बनता है ? samudri namak kaise banta hai ?

Sea salt vs Epsom salt in Hindi | सेंधा नमक और समुद्री नमक के बीच का अंतर
Photo by Quang Nguyen Vinh from Pexels

इस नमक की खेती की जाती है। इसको बनाने के लिए छोटे-छोटे छिछले गड्ढे या खेत में समुद्री या खारे पानी की झीलों का पानी इकठ्ठा किया जाता है। जब इन पर धूप पड़ती है तो धीरे-धीरे पानी वाष्पन प्रक्रिया द्वारा उड़ता रहता है।

कुछ समय के बाद केवल नमक ही खेतों में बचा रह जाता है। जिसे निकाल कर और प्यूरीफाई कर नमक के रूप में बेचा जाता है। प्रोसेसिंग के बिना ये नमक काफी अशुद्ध होता है इसे ही हम समुद्री नमकsea salt called in hindi कहते हैं।

इसे भी पढ़ें – 32 Best kitchen tips in hindi किचन की किच-किच से बचाने वाले किचेन टिप्स

समुद्री नमक कितने का मिलता है ? sea salt price per kg

ऑनलाइन खरीदने पर यह लगभग 50 रुपया प्रति किलो मिलता है Samudri namak price Rs. 99 For 2 kg

समुद्री नमक के फायदे और उपयोग What is sea salt good for

समुद्री नमक Sea salt में Magnesium की मात्रा काफी होती है। इसलिए ये skin के लिए काफी अच्छा होता है। Sodium की मात्रा भी जो स्किन को हाइड्रेट करती है।

इसे भी पढ़ें – आयुर्वेदिक मसाला चाय बनाने की आसान विधि 

बॉडी स्क्रबिंग या नहाने के लिए अधिकतर समुद्री नमक Sea salt का यूज़ किया जाता है। पर कुछ लोग इसे पाचन के लिए

भी अच्छा मानते हैं।

Sea salt /table salt समुद्री नमक एवं साधारण नमक (Table salt ) का रासायनिक नाम sodium chloride होता है।

सेंधा नमक और समुद्री नमक के बीच के अंतर को समझने के लिए (Epsom salt vs sea salt in Hindi) सबसे पहले हमे यह जान लेना आवश्यक है कि सेंधा नमक क्या होता है ? या फिर सेंधा नमक कहाँ से आता है। इसी तरह समुद्री नमक की प्राप्ति के स्रोत को जानेंगे ताकि दोनों के बीच का अंतर ठीक तरह से समझा जा सके।

इसे भी पढ़ें – करक्यूमिन के फायदे, हल्दी के अर्क में मिलने वाला करक्यूमिन है एक चमत्कारी औषद्यि

सेंधा नमक क्या होता है ? what is rock salt in Hindi

सेंधा नमक को सैंधव या लाहौरी नमक भी कहा जाता है। यह नमक सिंधु नदी के आस पास की हिमालय क्षेत्रों में चट्टान के रूप में पाया जाता है।

सेंधा नमक को पिंक साल्ट भी कहते हैं। सेंधा नमक के अंदर आइरन ऑक्साइड तथा अन्य खनिज पदार्थों की उपस्थिति के कारण यह गुलाबी या बैंगनी रंग का भी होता है।

आयुर्वेद में सेंधा नमक का काफी महत्व है। व्रत या त्यौहार की थाली बनाने में सेंधा नमक का ही प्रयोग होता है।

Sea salt vs Epsom salt in Hindi | सेंधा नमक और समुद्री नमक के बीच का अंतर
Photo by monicore from Pexels

ये भी पढ़ें  ––लैक्टो कैलामाइन लोशन घर पर बनाने की विधि how to make lacto calamine lotion at home

सेंधा नमक कहाँ से आता है ? sendha namak kahan se aata hai ?

ये नमक सिंध तथा पश्चिमी पंजाब के सिंधु नदी से सटे हुए हिस्से जिसे खैबर पख्तूनख्वा कहते हैं, के कोहाट जिले से खनन कर लाया जाता है।

पश्चिम पंजाब में “नमक कोह ” नाम की पहाड़ी श्रृंखला है। वहां नमक की खाने हैं। साथ ही यहाँ की सबसे अधिक प्रसिद्ध ‘खेव’ नमक खान है। सेंधा नमक को हिमालयन साल्ट himalayan salt हाईलाइट या Epsom Salt भी कहा जाता है।

ये भी पढ़ें- हिंगलाज के पौधे के अनोखे फायदे जो हैरान कर देंगे 

सेंधा नमक के अन्य भाषाओं में नाम Epsom salt synonym in Hindi

1.हिंदी सेंधा नमक
2.तमिल पिंतुपु
3.तेलगु अपूवु
4.गुजराती सिंधुलुन
5.बंगाली साईधाव लवन
6.अंग्रेजी Rock salt , Epsom Salt
सेंधा नमक के अन्य भाषाओं में नाम

सेंधा नमक और काला नमक में अंतर difference between Epsom salt and black salt in hindi

काला नमक का रंग कला या भूरा होता है। तथा इसका texture क्रिस्टल की तरह होता है। जबकि सेंधा नमक का रंग हल्का गुलाबी होता है।

काला नमक भी एक प्रकार का सेंधा नमक ही होता है। यह पाचन सम्बन्धी विकारों में बहुतायत से इस्तेमाल किया जाता है।

इसे भी पढ़ें – खाना पकने वाले बर्तन कैसे हों

सेंधा नमक और समुद्री नमक में अंतर Epsom salt vs sea salt in Hindi

काफी लोगों को सेंधा नमक और समुद्री नमक की पहचान करने में मुश्किल होती है। हम आपको कुछ पॉइंट्स बता रहे हैं। इनकी सहायता से आप आसानी से सेंधा नमक और समुद्री नमक में अंतर Sea salt vs Epsom salt in hindi कर सकते हैं।

  • सेंधा नमक हल्का गुलाबी होता है।
  • समुद्री नमक गुलाबी, हल्का काला या हरापन लिए हुए होता है।
  • सेंधा नमक के क्रिस्टल शुष्क एवं साधारण समुद्री नमक के क्रिस्टल नम होते है।

इसे भी पढ़ें -अश्वगंधा के बहुमूल्य फायदे | ashwagandha ke kya fayde hai

समुद्री फेन और समुद्री नमक में अंतर Difference between Samudri jhag and samundri namak

आम तौर पर लोग समुद्री झाग और समुद्री नमक को एक ही चीज़ समझ लेते हैं। पर वास्तव में ये दोनों ही चीज़ों में कोई भी समानता नहीं है। ये बिलकुल ही अलग हैं। हालां की ये दोनों ही हमे समुद्र से मिलते हैं। पर समुद्री फेन समुद्र में पायी जाने वाली एक प्रकार की मछली से प्राप्त होता है।और समुद्री नमक हमे समुद्र का पानी सुखा कर प्राप्त होता है।

इसी लिए समुद्री फेन के फायदे भी अलग है और समुद्र फेन के उपयोग भी। उपरोक्त पंक्तियों में आपके पढ़ा की समुद्री नमक क्या होता है और कैसे बनता है। और अब आइये जानते हैं समुद्री झाग के बारे में भी कुछ रोचक तथ्य और जानकारी।

इसे भी पढ़ें –सौंफ और अजवाइन के हैरान करने वाले फायदे

समुद्र फेन क्या होता है ? what is samudra fen in hindi ?

समुद्री झाग के चमत्कारी लाभ | Samundri jhag ke use
समुद्री झाग के चमत्कारी लाभ | Samundri jhag ke use

samudri fen या समुद्री झाग एक विशेष प्रकार की मछली जिसका नाम cuttlefish है उसकी अस्थियों से हमें प्राप्त होता है। मरणोपरांत इन मछलियों की हड्डियों का झुण्ड पानी में तैरते हुए किनारे पर आ जाता है। इसे सुखा कर विभिन्न प्रयोग में लाया जाता है।

इसके अन्य नाम भी हैं जैसे samandar jhag, Sea Foam, समंदर फेन, samunder jhag, कैटल फिश हड्डी, samundar jhaag, समंदर झाग, Cuttlefish bone इत्यादि।  

इसे भी पढ़ें – कामलता के फूलों की ऐसी जानकारी जो और कही नहीं मिलेगी

समुद्र फेन का उपयोग samudri fen uses in hindi

समुद्री फेन का उपयोग मुख्य रूप से सौंदर्य सम्बन्धी उपायों में किया जाता है। यह चेहरे पर झाइयां, दाग घब्बे हटाने के लिए तथा किसी भी प्रकार की त्वचा सम्बंदि परेशानी को दूर करने में किया जाता है।

इसके अलावा समुद्री झाग को दवा बनाने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। इसका प्रयोग आभूषण बनाने में और क्राफ्ट तथा छोटी-छोटी मूर्तियां बनाने में भी किया जाता है। कान दर्द या किसी भी प्रकार की कान से सम्बंधित परेशानी में ये बेहतरीन नुस्खा है।

समुद्री झाग के बारे में यदि आप विस्तार से जानना चाहते हैं तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे और विस्तारपूर्वक ये लेख पढ़ें।

यह भी पढ़ें – समुद्री झाग के चमत्कारी लाभ | Samundri jhag ke use

हम आशा करते हैं की आपको हमारा ये लेख Epsom salt vs sea salt in hindi| सेंधा नमक और समुद्री नमक के बीच का अंतर काफी पसंद आया होगा।और इससे जुड़े यदि आपके मन में कोई प्रश्न हों या कोई सुझाव हो तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

इसे भी पढ़ें – आयुर्वेदिक मसाला चाय बनाने की आसान विधि

2 thoughts on “Sea salt benefits in Hindi समुद्री नमक और सेंधा नमक क्यों है इतना मूल्यवान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *