मानसिक तनाव दूर करने के उपाय आयुर्वेद द्वारा How to remove stress in hindi

Spread the love

मानसिक तनाव दूर करने के उपाय आयुर्वेदिक तरीकों से How to remove stress in hindi – आज कल की भाग दौड़ की ज़िन्दगी और काम के प्रेशर ने लोगों के दिल का चैन और मानसिक शांति चीन ली है। NCBI के एक सर्वे के अनुसार भारत में तनाव, चिंता,अनिंद्रा, अवसाद में काफी बढ़ोतरी हुई है।

पहले तो ये स्थिति कुछ विशेष परिस्थितियों में ही जन्म लेती थी। पर आज के लाइफ स्टाइल में तो स्ट्रेस ने ऐसी जगह बना ली है। की कोई इससे अछूता नहीं रहा। आज बड़े तो बड़े बच्चे भी मानसिक तनाव ग्रस्त होने लगे हैं।

क्यों होता है मानसिक तनाव What is Stress in hindi

स्ट्रेस का सीधा मतलब चिंता से होता है। ये शारीरिक या मानसिक दोनों हो सकती है। आमतौर पर चिंता किसी घटना या कोई विचार से हो सकती है जिससे व्यक्ति को घबराहट या निराशा महसूस होने लगे।

कुछ समय के लिए तो चिंता या तनाव होना स्वाभाविक है। अल्प समय की चिंता से व्यक्ति की गम्भीरता का पता चलता है। कोई व्यक्ति किसी काम को गंभीरता से करता है तो थोड़ा तनाव होना लाजमी है। लेकिन जब चिंता या तनाव रोज़ की आदत बन जाये या हद से ज्यादा होने लगे तो इसका सीधा असर व्यक्ति के स्वास्थ, संबंधों इत्यादि पर पड़ता है।

इसे भी पढ़ें –कहीं आप या आपके आसपास कोई डिप्रेशन का शिकार तो नहीं ? जानें इससे बचने का तरीका 

मानसिक तनाव दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय How to remove stress by Ayurveda in hindi

आयुर्वेद के अनुसार दिमाग का स्वस्थ होता सबसे जरुरी है। यदि दिमाग में स्ट्रेस या तनाव होगा तो कई बीमारियां शुरू हो सकती है। याददाश्त में कमी होना, इम्युनिटी कमज़ोर होना, ब्लड प्रेशर बढ़ जाना, अवसाद ग्रस्त होना इत्यादि।

आयुर्वेद में मानसिक तनाव दूर करने के 4 उपाय बताए गए हैं। इन आयुर्वेदिक उपायों का पालन करके हम तनाव मुक्त हो सकते है। आइये जानते हैं क्या है मानसिक तनाव दूर करने के उपाए।

इसे भी पढ़ें – इंफ्यूज्ड वॉटर क्या है, फायदे और बनाने का तरीका | पियें ऐसा पानी जो निरोगी बना दे

सात्विक भोजन से मानसिक तनाव दूर करने के उपाय Stress removing food in hindi

मानसिक तनाव दूर करने के उपाय आयुर्वेद द्वारा How to remove stress in hindi
Stress removing food

जैसा भोजन वैसा मन। ये कहावत यूँ ही नहीं कही जाती। सात्विक भोजन शाकाहारी होता है। इसमें ताज़े फल, हरी सब्जियां, दालें, दूध दही इत्यादि शामिल हैं। इन चीजों को खाने से शरीर हल्का रहता है। मन हल्का होता है। मन में शांति और प्रेम की भावना होती है।

आयुर्वेद के अनुसार सात्विक भोजन करने वाला व्यक्ति स्वस्थ, एनर्जेटिक शांत व क्रिएटिव होता है। यदि तनाव की स्थिति हो तो ऐसे में सात्विक भोजन करें। यह सबसे अच्छा मानसिक तनाव दूर करने का उपाय है।

इसे भी पढ़ें – हरी सब्जी के गुण और सब्जियां खाने के फायदे|Hari sabji ke Fayede in hindi

इसे भी पढ़ें – दालों के विभिन्न प्रकार और लाभ Daily dal khane ke fayde in hindi

अभ्यंग /मालिश से दूर होता है तनाव How to remove stress by Massage in hindi

मानसिक तनाव दूर करने के उपाय आयुर्वेद द्वारा How to remove stress in hindi
remove stress by Massage

मालिश जिसे आयुर्वेद में अभ्यंग कहते हैं। वैसे तो आयुर्वेद में अलग- तेलों से मालिश का अलग अलग प्रभाव बताया गया है। मालिश के कई सारे तरीके भी बताये गए हैं। लेकिन किसी भी तेल या किसी भी तरह से की गयी मालिश से सकारात्मक प्रभाव होते हैं।

मालिश करने से मन शांत होता है। सरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है। हर्बल तेल से मालिश करने से शरीर में सेरोटोनिन और डोपामाइन का संचार होता है। ये मानसिक तनाव कम करते हैं।

नारियल तेल सबके घर में जरूर मिलता है। इस तेल से मालिश करना सबसे अच्छा है। यदि समय का आभाव हो तो थोड़ी देर सर की मालिश करना भी लाभदायक है।

अभ्यंग / मालिश के तरीके और फायदे को विस्तार से समझने के लिए हमने अलग से लेख लिखे हैं। क्या आप जानते हैं ? पैरों की मालिश करके शरीर के सारे रोग दूर किये जा सकते हैं। आयुर्वेद में इस पादभयंग कहते हैं। यदि आप अभ्यंग और पादाभ्यंग करने का तरीका और फायदे जानना नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

इसे भी पढ़ें – आयुर्वेदिक अभ्यंग मतलब, फायदे और विधि Abhyanga massage benefits in hindi

इसे भी पढ़ें – पादाभ्यंग थेरेपी – सभी रोगों का एक इलाज padabhyanga benefits in hindi

योग है मानसिक तनाव दूर करने के उपाय How to remove stress by yoga in hindi

मानसिक तनाव दूर करने के उपाय आयुर्वेद द्वारा How to remove stress in hindi
remove stress by yoga

वैसे तो इंडिया में कई चीज़ों की खोज हुई है। चिकित्सा में भारह हमेशा से आगे रहा है। क्या आप जानते हैं शल्य चिकित्सा जिसे आसान शब्दों में ऑपरेशन कहते हैं। इसकी भी शुरुआत भारत में ही हुई है। इसी तरह योग का जन्म भी भारत में हुआ है।

इसे भी पढ़ें – Yoga for health |All about international yoga day | योग कब कैसे और क्यों ?

योग मन को शांत करने की सबसे अच्छी विधि है। योग से मानसिक तनाव कम होता है। योग हमारे नर्वस सिस्टम को आराम पहुँचाता है। योग या प्राणायाम करने से सेरोटोनिन और डोपामाइन हमारे शरीर में बनता है। जिससे तनाव से मुक्ति मिलती हैं। एकाग्रता बढ़ती है। कोर्टिसोल एक हार्मोन है। इसके बढ़ने से तनाव वाली स्थिति उत्पन्न होती है। शोध के अनुसार रोजाना योग करने से कॉर्टोसोल का स्तर काम होता है। आयुर्वेद के अनुसार नियमित रूप से योग करने से मन शांत होता है और तनाव दूर होता है।

इसे भी पढ़ें – Amritdhara सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार /कपूरधारा/जीवन रसायन बनाने की विधि

मानसिक तनाव काम करने की जड़ीबूटी Stress removing herbs in hindi

आयुर्वेद में विभिन्न प्रकार की जड़ीबूटियां है। इस जड़ीबूटी का प्रयोग करके किसी भी मर्ज को ठीक किया जा सकता है। सबसे अच्छी बात है की जड़ीबूटियों के सेवन से हमें किसी भी प्रकार के साइड इफ़ेक्ट नहीं होते हैं। जड़ीबूटियों से प्राकृतिक तरीकों से मर्ज का इलाज होता है।

कुछ जड़ीबूटियां मस्तिष्क के लिए बड़ी फायदेमंद होती हैं। इन जड़ीबूटियों के सेवन से दिमाग तेज़ होता है। मन शांत रहता है। तनाव काम होता है और याददश्त तेज़ होती है।

यह भी पढ़ें – समुद्री झाग के चमत्कारी लाभ

ब्राह्मी ऐसी ही एक जड़ीबूटी है। इसके नियमित सेवन से कई लाभ हैं। ये तंत्रिका तंत्र में सेरोटोनिन, डोपामाइन को संशोधित करती है। परिणामस्वरूप तनाव में रहत मिलती है। तनाव काम करने में जटामांसी, शंखपुष्पी इत्यादि भी कोर्टिसोल के स्टार को कम करती है। जो की तनाव के लिए उत्तरदायी होता है।

आयुर्वेद वास्तव में हमें स्वस्थ रखने में काफी मदद करता है। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेद के अनुसार उचित जीवनशैली, सात्विक खानपान ही उत्तरदायी होता है। मानसिक तनाव दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय से आप बिना किसी दवा के खुश और स्वस्थ रह सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – करक्यूमिन के फायदे, हल्दी के अर्क में मिलने वाला करक्यूमिन है एक चमत्कारी औषद्यि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *