गर्मियों में सही धूप का चश्मा कैसे चुनें sun glasses selection tips in hindi

Spread the love

गर्मियों में सही धूप का चश्मा कैसे चुनें sun glasses selection tips in hindi – गर्मी के मौसम में अपनी त्वचा की रक्षा के लिए तो आप काफी सतर्क रहती हैं। पर, अपनी आंखों के बारे में कभी सोचा है? सूरज  की रोशनी से बचने के लिए कैसे अपने लिए चुनें सही सनग्लास

बढ़ती गर्मी अपने साथ आंखों की भी कई समस्याएं लाती हैं। बहुत कम लोग जानते हैं कि अदृश्य पराबैगनी किरणें हमें अंधा तक बना सकती हैं। गर्मी के मौसम में सूर्य की तेज रोशनी में मौजूद अल्ट्रावायलेट किरणों और धूल से आंखों को बचा कर रखना बहुत जरूरी होता है।

इसे भी पढ़ें – गर्मियों में भी रहेंगे कूल, पहनें ऐसे कपड़े Right clothes wear in summer in Hindi

त्वचा की तरह आंखों को भी सूर्य की अदृश्य पराबैगनी किरणें नुकसान पहुंचाती हैं, खासकर गर्मियों के मौसम में। गर्मी के मौसम में हमें अपनी आंखों का खास ध्यान रखना चाहिए ताकि हमारी आंखों पर सूरज का प्रकोप न पड़ें।

तेज धूप है नुकसानदेह Tez dhoop se karen aankhon ka bacahv

तेज धूप है नुकसानदेह Tez dhoop se karen aankhon ka bacahv
Sunshine

तेज धूप की वजह से आंखों पर पड़ने वाली अल्ट्रा वायलेट (यूवी) रेडिएशन से मोतियाबिंद जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। सर्दियों की तुलना में गर्मी में यूवी रेडिएशन तीन गुना ज्यादा होता है। कई बार लोग धूप में यूं ही बाहर निकल जाते हैं। इससे आंखों में जलन, आंखों से पानी गिरना, सिर चकराना, जी मिचलाना जैसी शिकायतें होने लगती हैं। इससे बचने के लिए आंखों की सुरक्षा का इंतजाम करके बाहर जाएं।

इसे भी पढ़ें –हमें सनस्क्रीन क्यों लगाना चाहिए | Summer Beauty Tips

चुनें अच्छा सनग्लास sun glasses selection tips in hindi

धूप के चश्मे ना केवल फैशन के लिहाज से ट्रेंडी होते हैं, बल्कि आंखों के लिए भी उपयोगी होते हैं। तेज धूप में अल्ट्रावॉयलेट किरणे आंखों पर असर डालती हैं। ऐसे में आंखों को सूरज की रोशनी और यूवी किरणों से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए सनग्लास जरूर पहनना चाहिए। 

यहां इस बात को भी ध्यान में रखने की जरूरत है कि यूंही कोई भी सनग्लास पहनकर आप अपनी आंखों को सुरक्षा कवच प्रदान नहीं कर सकती हैं। आपको अच्छी क्वॉलिटी का सनग्लास अपने लिए चुनना होगा। किसी चश्मे की दुकान पर जाकर अच्छे यूवी प्रोटेक्शन वाले सनग्लास की मांग करें।

जब भी सनग्लास खरीदें तो इस बात का खास ध्यान रखें कि चश्मे का लेंस ब्लॉक 99 प्रतिशत या 100 प्रतिशत यूवी और यूवीए किरणों का हो। सनग्लास को रोज पहनने की आदत डालें। इसके अलावा बच्चों को भी बिना सनग्लास पहनाए बाहर लेकर नहीं जाएं।

सनग्लास आपकी ड्रेस से मैच करता हुआ हो या न हो, पर इस बात का ध्यान जरूर रखें कि वह सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों से आपकी रक्षा जरूर करे।

इसे भी पढ़ें-सनस्क्रीन और SPF से जुड़े हर सवाल का जवाब | best spf in sunscreen

सही धूप का चश्मा कैसे चुनें sun glasses selection tips in hindi

  • हो सके तो सनग्लास का चुनाव डॉक्टर की सलाह सेही करें।
  • हमेशा ब्रांडेड सनग्लास ही पहनें। सनग्लास हमेशा अच्छी कपंनी के ही लेने चाहिए। सस्ते सनग्लास आपकी आंखों के लिए घातक हो सकते हैं। इनमें आंखों की सुरक्षा के लिए सही मानको का ध्यान नहीं रखा जाता है।
  • गुणवत्ता का विशेष प्रमाण पत्र वाला ऑप्टिकल या धूप का चश्मा चुनें। घटिया प्लास्टिक के ग्लास वाला सनग्लास आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • सनग्लास सही रंग और आकार का ही चुनें।
  • सनग्लास ऐसा हो जो यूवी किरणों का प्रवेश रोक सके।
  • चश्मा बड़ा होना चाहिए ताकि आंखें पूरी तरह ढकी हुई रहे।
  • यदि सनग्लास प्लेन है, तो पूरा प्लेन होना चाहिए। यदि वह पावर वाला है, तो पूरे ग्लास में एक जैसा पावर होना चाहिए।
  • बच्चों को भी हमेशा अच्छी क्वालिटी का सनग्लास ही पहनने के लिए दें। सनग्लास की खराब क्वालिटी या प्लास्टिक के ग्लास वाले सनग्लाससे उनकी आंखों में एलर्जी हो सकती है और आंखें भी खराब हो सकती हैं।
  • आंखों को बार-बार छूने या रगड़ने से बचें।
sun glasses selection tips
sun glasses selection tips

कैसे अपनी आँखों की देखभाल करें aankhon ki dekhbhal kaise karen

धूप से वापस आ कर ठंडे पानी से आंखों को धो लें। अगर गर्मी के कारण आंखें लाल हो गई हैं तो बर्फ वाले पानी से आंखों को धोने के बाद खीरे के ठंडे टुकड़े को आंखों के ऊपर कुछ देर के लिए रखें। बर्फ वाले पानी में रुई को भिगोकर भी आंखों पर रख सकती हैं।

आंखो का दुश्मन सूरज की पराबैगनी किरणे आंखों को काफी नुकसान पहुंचा सकती हैं। इससे आंखों की रक्षा करने कीजरूरत है। यह विकिरण फोटो फोबिया जैसे रोगों को जन्म दे सकता है।

पराबैगनी विकिरण आंखों की सतहके साथ कॉर्निया को भी नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे स्थाई रूप से अंधापन हो सकता है। यहां तक कि जब आसमान में बादल छाए होते हैं, उस दौरान भी ये किरणें आंखों के लिए काफी खतरनाक हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- लैक्टो कैलामाइन लोशन घर पर बनाने की विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *